ALL CRIME NEWS INTERNATIONAL NEWS CURRUPTION CORONA POSITIVE NEWS SPORTS
लाइनमैन उदयवीर को बिजली घर से हटाने को तैयार नहीं है अधिकारी 
October 1, 2020 • डाटला एक्सप्रेस पंकज तोमर • CURRUPTION

गाजियाबाद:-साहिबाबाद डिवीजन चार राजेंद्र नगर बिजली घर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले कोयल एनक्लेव बिजली घर पर बिजली विभाग के नाम से उगाही का सिंडिकेट चलाने वाला लाइनमैन उदयवीर आज भी बिजली घर पर काम कर रहा है।आपको बता दें कि अभी कुछ दिन पहले खराब मीटर खोलकर मीटर को ठीक करने की एवज में लाइनमैन उदयवीर ने एक उपभोक्ता से 900 रुपए की रिश्वत ली थी जब उपभोक्ता ने उदयवीर से उन पैसों की रसीद मांगी तो उसने रसीद देने से मना कर दिया और अपना मेहनत का पैसा बता वहां से चला गया। इस पूरे मामले की शिकायत जब उच्च अधिकारियों से की गई तो फॉर्मेलिटी के तौर पर लाइनमैन उदयवीर को बिजली घर से हटा देने की बात सामने आई परंतु दूसरी ओर लाइनमैन उदयवीर आज भी कोयल एन्क्लेव बिजली घर पर तैनात है और अपना काम कर रहा है जिसे प्रकाशित तस्वीर में देखा जा सकता है। इस वाक्ये से बिजली विभाग द्वारा किए जाने वाले उन दावों की पोल खुल जाती है जिसमें वह विभाग के भीतर किसी भी प्रकार के भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारी को बर्दाश्त न करने की बात करते-रहते है। और यह बात भी साफ हो जाती है कि कहीं ना कहीं ऐसे भ्रष्ट लोगों के ऊपर उनके आकाओं यानी उनके उच्चधिकारियों का पूरा संरक्षण रहता है तभी ऐसे भ्रष्‍ट कर्मचारी बिना किसी दबाव के गरीब जनता की जेबों पर डाका डाल अपनी एक समानान्तर कमाई का जरिया या यू कहे कि अपना एक उगाही सिंडिकेट बना लेते है जिसमें आने वाला पैसा नीचे से ऊपर की तरफ पहुंचता रहता है शायद यही वज़ह है कि पानी की तरह पूरा मामला साफ होने के बावजूद अवर अभियंता निरंजन मौर्या, एसडीओ किशन कुमार व अधिशासी अभियंता राजीव आर्य इस लाइन के विरुद्ध कोई भी उचित विभागीय कार्यवाही करने को तैयार नहीं है। खैर इसमे इन अधिकारियों का क्या बिगड़ता है इसमे सबसे ज्यादा नुकसान साफ सुथरी छवि वाली राज्य सरकार का होता है क्यूंकि गलती चाहे कोई कर्मचारी या कोई भी अधिकारी करे आम जनता उसका दोष हमेशा सरकार को ही देती है इसीलिए राज्य सरकार को ऐसे अधिकारियों जो भ्रष्टचार और भ्रष्टाचारियों को बढ़ावा देते हो उनके विरुद्ध कठोर कार्यवाही करनी चाहिए जिससे बाकियों और आने वालों को एक सबक मिल सके।