ALL CRIME NEWS INTERNATIONAL NEWS CURRUPTION CORONA POSITIVE NEWS SPORTS
बिजली विभाग के अधिकारी शिकायतकर्ता जयचंद के ऊपर शिकायत वापस लेने का बना रहे है दबाव  
September 7, 2020 • डाटला एक्सप्रेस

  

 

 

वह खबर जिसने वितरण खंड चार के अधिकारियों की नींदे उड़ा दी 

 

गाजियाबाद के विद्युत वितरण केंद्र चार राजेंद्र नगर बिजली घर क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कोयल एनक्लेव बिजली घर में तैनात लाइनमैन उदयवीर द्वारा रिश्वतखोरी से संबंधित समाचार आज हमारे दैनिक समाचार पत्र ट्रू टाइम्स में प्रकाशित किया गया था जिसने पूरे विद्युत वितरण खंड चार में तहलका मचा दिया। एसडीओ किशन कुमार ,सालों से एक ही जगह पर जमे बैठे अवर अभियंता निरंजन मौर्या, लाइनमैन विकास के साथ लाइनमैन उदयवीर के द्वारा ठगी का शिकार हुए शिकायतकर्ता गगन विहार गली नंबर 16 मकान नंबर 521 निवासी जयचंद के यहां पर पहुंचे और मीटर के बारे में लिखा पढ़ी करके वहां से बिजली घर चले गए उसके कुछ देर बाद एसडीओ किशन कुमार व जेई निरंजन मौर्या ने एक लाइनमैन के द्वारा जयचंद को बिजली घर बुलाया और शिकायत वापस लेने का दबाव बनाने लगे जब शिकायतकर्ता इनके दबाव में नहीं आया तो एक अन्य लाइनमैन के द्वारा लाइनमैन उदयवीर ने मीटर की सील तोड़ कर मीटर को ठीक कर ठगे हुए नौ सौ रुपए जयचंद को वापस कर दिए और उसके बाद सभी लाइनमैन इकट्ठा होकर उनके ऊपर दोबारा एक बार फिर दबाव बनाने लगे परंतु उपभोक्ता जयचंद जैसे-तैसे वहां से कुछ बहाना बनाकर इनके चंगुल से चले गए और उसके बाद जयचंद ने सारा घटनाक्रम हमारे संवाददाता पंकज तोमर को बताया तो संवाददाता ने अधिशासी अभियंता राजीव आर्य को इस घटनाक्रम से अवगत कराने के लिए फोन किया परंतु उन्होंने फोन नहीं उठाया इससे साफ जाहिर होता है कि बिजली विभाग के भ्रष्ट अधिकारी अपने लाइनमैन को बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं क्यूंकि यही उनके उगाही एजेंट जो हैं।

 

इतने बड़े पदों पर बैठे अधिकारी यदि चंद रुपयों के लिये अपना ईमान इसी प्रकार बेचते रहेंगे तो कोई आम रजनागरिक आखिर किसके आगे अपनी व्यथा सुनाएगा क्यूंकि एक हमाम में जब सभी नंगे हो तो नैसर्गिक न्याय की उम्मीद बोहोत ही कम या कहना चाहिए बिल्कुल नहीं बचती।इन सभी बातों को ध्यान में रखकर एक ही नतीजे पर पहुंचा जा सकता है कि पूरे डीवीजन में हो रहे सभी तरह के भ्रष्टाचारों पर केवल और केवल अधिशासी अभियंता राजीव आर्य तथा उप मंडल अधिकारी किशन कुमार का संरक्षण प्राप्त है क्यूंकि बिना उच्चधिकारियों के संरक्षण के जूनियर्स की हिम्मत ही नहीं कि इस प्रकार की कोई हिमाकत कर सके।