भाजपा के लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह से की मारपीट
November 27, 2019 • Datla Express

खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह

डाटला एक्सप्रेस 
व्हाट्सप- 9540276160 

गाजियाबाद: गाजियाबाद जनपद के लोनी विधानसभा से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर जो कि हमेशा से ही सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कानून हाथ में लेकर उन्हें सुधारने और उनके साथ आये दिन मारपीट करने और एक समानान्तर सत्ता स्थापित करने को लेकर सुर्खियों में रहते आए हैं वो फिर एक बार अपने नये कारनामें के साथ पुन: आये हैं।

हालिया मामला लोनी इलाके में खाद्य सुरक्षा अधिकारी की पिटाई का है। आपको बता दें कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह दिनांक 27/11/2019/बुधवार को लोनी में दौरे पर निकले थे कि तभी लोनी के भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने उन्हें एक दुकान पर कार्यवाही करने की बात कही, ऐसे में जब आशुतोष सिंह ने कहा कि यह उनके अधिकार क्षेत्र का मामला नहीं है, चूँकि मैं विभाग में हूँ, तो इस नाते ये अवश्य कह सकता हूँ कि इसके पास वह सारी चीजें/दस्तावेज मौजूद हैं जिनके आलोक में यह दुकान बंद करने योग्य नहीं है। इस पर विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने आशुतोष सिंह को अपने ऑफिस पर बुलाया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह ने विधायक पर आरोप लगते हुए कहा- "जब वह विधायक नंदकिशोर गुर्जर के ऑफिस पहुंचे तो विधायक और उनके साथियों ने उनके साथ जमकर मारपीट की और उनके कपड़े तक फाड़ डाले। खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने आगे कहा कि जब विधायक का इतने पर भी मन नहीं भरा तो उनका फोन भी तोड़ दिया। बचाव करने आए मेरे ड्राइवर के साथ भी विधायक और उसके गुर्गों ने मारपीट की और उसका भी फोन अपने कब्जे में ले लिया।" विधायक की ऑफिस से निकलने के बाद खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह जिलाधिकारी दफ्तर पहुंचे और आप बीती तमाम अधिकारियों को बताई। जिसके बाद सभी अधिकारी आशुतोष सिंह के साथ अपर जिलाधिकारी आवास पहुंचे और रिपोर्ट दर्ज कराने की बात अपर जिलाधिकारी से कही. 

अब खाद्य सुरक्षा अधिकारी आशुतोष सिंह द्वारा लगाए गए तमाम आरोपों में कितनी सच्चाई है, यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा, लेकिन यह पहला मामला नहीं है जब नंदकिशोर गुर्जर इस तरह क्षेत्र में अपना वर्चस्व बनाने के लिए अपनी जनसेवक छवि को ध्वस्त करते हुए एक दुराग्रह पूर्ण गुंडागर्दी कर्म दिखाया हो। पूर्व में चाहे वह रेत खनन का मामला रहा हो, चाहे वह फैक्ट्रियां बंद कराने का मामला रहा हो या बिजली विभाग के लोगों से मारपीट का रहा हो सबमें रिकार्ड देखा जाए तो लोनी से भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने हमेशा जनहित के नाम पर अपने अधिकारों का अतिक्रमण किया है, और कानून हाथ में लिया है। ताज्जुब ये है कि पुलिस भी इनके कारनामों पर चुप रहती है। इस संबंध में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी जी को विधायक नंदकिशोर गुर्जर के खिलाफ तत्काल सख्त आपराधिक कार्रवाई का आदेश देना चाहिए, जिससे जनता एवं लोक सेवकों में पार्टी और सरकार की छवि खराब न हो।