ALL CRIME NEWS INTERNATIONAL NEWS CURRUPTION CORONA POSITIVE NEWS SPORTS
अवर अभियंता अजय सिंघल की शह पा वैशाली सेक्टर 05 में आ गई है अवैध निर्माणों की बाढ़
February 24, 2020 • Datla Express

 

डाटला एक्सप्रेस-संवाददात

गाज़ियाबाद:अवैध निर्माणों की रोकथाम व बड़े-बड़े निर्माणकर्ताओ से बकाया की वसूली के लिए जीडीए विसी कंचन वर्मा द्वारा किए जा रहे निरंतर प्रयास किसी से छुपे नहीं है, लेकिन उनके इन प्रयासों को सालो से जीडीए में जमे हुए उन अवर अभियंताओं द्वारा लगातार पलीता लगाया जा रहा है जो अपनी शह में अनेकों अवैध निर्माणों को फलने फूलने दे रहे है जिनका मकसद केवल और केवल अपनी जेबे भरना है, दरअसल सालो से जीडीए में जमे रहने के कारण कुछ भ्रष्‍ट अवर अभियंताओं ने अपनी एक समानांतर सरकार ही बना ली है, बड़े-बड़े बिल्डरों में अच्छा दब दबा और जीडीए के अंदर अच्छी पकड़ होने के कारण इनको किसी भी प्रकार की समस्या सालो से नहीं आई जिस कारण इनका मन इतना बढ़ चुका है कि इन्होंने जीडीए विसी के अवैध निर्माण रोको अभियान को बिल्कुल सिरे से नकार कर निरंतर अपनी शह में अवैध निर्माणों को फलने-फूलने दिया है, प्राप्‍त सूचना के अनुसार जीडीए के प्रवर्तन जोन छह (06) स्थित वैशाली सैक्टर 05 जो कि अवर अभियंता अजय सिंघल के अधिकार क्षेत्र में आता है, में अनेकों अवैध निर्माण जीडीए निर्माण मानकों के खिलाफ किए जा रहे है जिनपर अवर अभियंता अजय सिंघल द्वारा पूरी तरह से अपनी शह प्रदान की गई है जिससे बेखौफ हो बिल्डरों द्वारा निरंतर अवैध निर्माणों को अंजाम दिया जा रहा है जिनपर हमारे फील्ड रिपोर्टरों द्वारा निरंतर नज़र रखी गई व जा रही है तथा समय-समय पर इन्हें शाशन व प्रशासन के सामने लाया गया व जा रहा है जिससे अजय सिंघल जैसे भ्रष्‍ट अभियंताओं पर सख्त से सख्त कार्यवाही हो सके जो अपनी कारिसतानियों से राज्य सरकार को प्रत्येक वर्ष लाखो के राजस्व का नुकसान पहुंचाते है, वैसे इन सभी अवैध निर्माणों की शिकायत मुख्यमंत्री जन शिकायत पोर्टल पर की जा चुकी है अब देखने वाली बात यह होगी कि जीडीए विसी इन अवैध निर्माणों के खिलाफ कैसे कदम उठाती हैं 

अवैध निर्माणों के कुछ प्रमुख बिंदु

(1) निर्धारित सीमा से अधिक ऊँचाई और मानचित्र के बिल्कुल विपरीत खुले में हो रहा है अवैध निर्माण।
(2) FAR नियमों का किया गया है उल्लंघन यानि निर्धारित से अधिक क्षेत्र को कवर करके किया गया है निर्माण व पार्किंग के लिए नहीं छोड़ी गयी जगह।
(3) बिना शमन के ही किया गया अतिरिक्त निर्माण।
(4)निर्धारित से कई गुना अधिक छज्जों की चौड़ाई जो मौके पर नापकर साफतौर पर देखा जा सकता है। 
(5)-बिना आदेश किया जा रहा हैं अवैध भू-जल दोहन

कुछ अवैध निर्माणों के छाया चित्र