सिहानी गेट पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़
August 5, 2019 • Datla Express

डाटला एक्सप्रेस 

गाजियाबाद: थाना सिहानी गेट क्षेत्र में बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हो गई, मुठभेड़ में बदमाश के पैर में लगी गोली। आपको बता दें कि जब से गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर सिंह आए हैं तब से  गाजियाबाद में अंधाधुंध मुठभेड़ हो रही, अभी 2 दिन के अंदर पुलिस और बदमाशों के बीच यह तीसरी बार मुठभेड़ हुई है। एसएचओ उमेश बहादुर सिंह,चौकी प्रभारी  नंद ग्राम श्री दिनेश पाल सिंह, चौकी प्रभारी सिहानी चुंगी प्रजन्त त्यागी, चौकी प्रभारी पुराना बस अड्डा नरेंद्र कुमार मय टीम के साथ चेकिंग कर रहे थे उसी दौरान मोटरसाइकिल पर संदिग्ध व्यक्ति आते दिखाई दिए जब पुलिस ने रुकने का इशारा किया तो बदमाश भागने लगा, पुलिस ने पीछा किया तो उसने पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से फायरिंग कर दी, पुलिस द्वारा आत्मरक्षा में की  गई  फायरिंग के दौरान अभियुक्त चांद पुत्र यूसुफ निवासी नई आबादी दादरी, थाना - दादरी, जनपद गौतम बुद्ध नगर दाहिने पैर में गोली लगने के कारण घायल हो गया। घायल अवस्था में उसे गिरफ्तार कर उपचार के लिए अस्पताल भेज दिया गया है तथा एक अभियुक्त नाम पता अज्ञात मौके से फरार हो गया। मौके पर अभियुक्त से एक तमंचा .315 बोर, 1 खोखा तथा 1 जिंदा कारतूस .315 बोर, एक मोटरसाइकिल डिस्कवर चोरी  की बरामद हुए। अभियुक्त एक शातिर किस्म का अपराधी है तथा अभियुक्त पर पूर्व में हत्या-लूट-चोरी के लगभग आधा दर्जन मुकदमें पंजीकृत हैं। अभियुक्त का अपराधिक इतिहास काफी बड़ा है। थाना बिसरख पर हुए बहुचर्चित देव भाटी हत्याकांड का मुख्य आरोपी रहा है तथा वर्ष 2016 में थाना दादरी क्षेत्र अंतर्गत नई आबादी कॉलोनी में दबिश पर गई पुलिस टीम पर अभियुक्त द्वारा अपने साथियों के साथ मिलकर पुलिस टीम पर जान से मारने की नियत से फायरिंग की गयी थी जिसमें उप-निरीक्षक श्री अख्तर अली की  गोली लगने  से मृत्यु हो गई थी.