जीडीए द्वारा तुलसी निकेतन को तोड़ने के विरोध में सीएम योगी को लिखा पत्र:
February 4, 2019 • Datla Express

डाटला एक्सप्रेस 

राजेश्वर राय
व्हाट्सप: 9540276160
datlaexpress@gmail.com
04/02/2019

गाजियाबाद: साहिबाबाद स्थित तुलसी निकेतन में जीडीए द्वारा तीन मंजिला फ्लैटों को तोड़कर 12 मंजिला टावर बनाने के विरोध में राजेश चड्डा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा जिसमें जीडीए द्वारा तुलसी निकेतन को तोड़ने की कार्यवाही को रोकने की मांग की।

श्री चड्ढा ने हमारे डाटला संवाददाता को बताया कि तुलसी निकेतन के 2292 फ्लैट 99 साल की लीज पर 1990 में दिए गए थे। जिन फ्लैटों को बने हुए अभी 30 साल ही हुए हैं। परंतु जीडीए वीसी कंचन वर्मा का कहना है कि यह फ्लैट जर्जर हो चुके हैं इनको तोड़ दिया जाए और यहीं पर एक 12 मंजिल का टावर बना कर बाकी जगह वापस ले ली जाए।

तुलसी निकेतन निवासी इस बात का विरोध कर रहे हैं, उनका कहना है कि यहां पर जो भी दिक्कतें हैं उनको दूर किया जाए, जैसे 30 साल हो गए कॉलोनी को बसे हुए अभी तक यहां पर मीठा पानी नहीं आया, सीवर लाइन बंद पड़ी है, नाले-नालियां पूर्ण रुप से चालू नहीं हैं।

हम सभी लोगों का कहना है कि जीडीए इन फ्लैटों को रिपेयर करा कर दे और यहां की जो बाकी समस्यायें हैं उनको दूर करे, हम कहीं नहीं जाएंगे और इन्हीं फ्लैटों में रहेंगे।

जीडीए के बयानों के अनुसार यहां पर सिर्फ रजिस्ट्री और पावर ऑफ अटार्नी वाले को ही मालिक माना गया है नोटरी वालों को नहीं। अब जब रजिस्ट्री और पावर ऑफ अटॉर्नी दोनों ही बन्द हैं तो लोगों के पास नोटरी के अलावा और कोई रास्ता नहीं था या तो जीडीए नोटरी को बराबर की मान्यता दे अन्यथा इन फ्लैटों की रजिस्ट्री कराई जाए।
उन्होंने अपने पत्र में मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि मान्यवर आप इस समस्या को गंभीरता से लें ताकि किसी कॉलोनी वासी के साथ नाइंसाफी ना हो।


राजेश चड्ढा की बात का समर्थन करते हुए भोपाल सिंह भाटी, कुलदीप कसाना, साहिब सिंह, शत्रुघ्न, रमेशचंद, अशोक सचदेवा, प्रतीक चड्ढा, सोनिक, विजय कुमार, पुरुषोत्तम दास व अन्य लोगों ने पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं।

पत्र लिखने वाले:-राजेश चड्ढा

मुख्यमंत्री को लिखा गया पत्र